शुक्रवार, 12 नवंबर 2010

पक्षी बिजली की तारों पर बिना विधुत झटका लगे कैसे बैठ जाते है? How do Birds sits on electric lines?

electric-shock-2

कई बार  हम ये सोचते है कि पक्षी बिजली की तारों पर बिना विधुत झटका लगे कैसे बैठ जाते है आम तौर पर बिजली के खंभोंवाली तारों पर हम पक्षी जैसे कौवों,कबूतरों,चिडियों आदि पक्षियों को तारों पर बैठे देखते है और सोचते है इन को करंट या बिजली का झटका ( Electric shock) क्यूँ नहीं लगता है|

electric-shock-1

   इसको जानने के लिए हमे ये जानना जरूरी हो जाता है की ये बिजली का झटका ( Electric shock) होता क्या है उच्च वोल्टेज लाइनों के साथ संपर्क में आने से शरीर के माध्यम से विद्युत धारा के प्रवाहित हो जाने पर एक ज़बरदस्त अभिघात होता है जिस के फलस्वरूप जल जाना और ह्रदय की कार्यप्रणाली प्रभावित होती है इस स्थिति में मृत्यु हो जाती है|

जीवों का शरीर विधुत का सुचालक होता है  जब एक पक्षी एक बिजली लाइन पर खड़ा है वह एक ही कंडक्टर से जुड़ा है तो उस के शरीर से विधुतधारा का प्रवाह नहीं होगा परन्तु जैसे ही वो दुसरी तार को छुयेगा तो विधुत परिपथ पूरा हो जाएगा और पक्षी के शरीर से उच्च वोल्टता का प्रवाह होने से जल जाना या फिर ह्रदयगति रुक जाना सम्म्पन होगा और उस की तत्काल मृत्यु हो जायेगी 

हाक, ईगल, और अन्य बड़े पक्षी हजारोंकी संख्या में बिजली लाइनों से उलझ कर करंट लगने से electrocution से हर साल मर जाते हैं|

electric-shock-3

   Only when the bird completes a circuit, either by touching two lines simultaneously,or by touching a line and a ground source (say, a metal pole that is anchored into the ground), will the electic current change its path and pass through the bird on its way to the alternative path (the other wire or the metal pole).
or When a bird sits on an electric line, there is no circuit completed. Bird sits on the same side of the circuit. If he were to sit on two wires (or one wire and a ground source) at the same time, an electrical circuit would be completed, and the resulting surge of current through his body would electrocute him.

तो अब समझ चुके होंगे कि क्यों और कब तक पक्षी इन पावर की तारों पर बैठ सकते है जी

सभी चित्र गूगल इमेज से साभार

8 टिप्‍पणियां:

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक (उच्चारण) ने कहा…

आप रोचक ढंग से विज्ञान की शिक्षा दे रहे हैं!

आशीष मिश्रा ने कहा…

बहोत ही अच्छी जानकारी.......
एक बात मैने भी पढ़ी थी यदि किसी तार(when current not flowing) पर कोई पक्षी बैठा है और अचानक उसमे विद्युत का प्रवाह होने लगे तो वह खुद ब खुद उड़ जाता है.
है न सर ?

प्रकाश गोविन्द ने कहा…

ये जानकारी मुझे ज्ञात थी.
लेकिम पोस्ट का महत्व अपनी जगह कायम है.
आप इस तरह की जानकारी देकर अत्यंत महत्वपूर्ण कार्य कर रहे हैं. आपके ब्लॉग का महत्व सैकड़ों व्यर्थ ब्लॉग से ज्यादा है.

Arvind Mishra ने कहा…

अच्छी तरह समझाया जी

ePandit ने कहा…

अच्छी जानकारी, एक बात मेरे दिमाग में पहले भी आती रही है कि यदि हम मान लो उड़ सकें और हवा में से ही तार को छू लें तो क्या हमें भी करण्ट नहीं लगेगा?

बूझो तो जानें ने कहा…

जानकारी अच्छी लगी. धन्यवाद.

suraj yadav ने कहा…

Admi ko karen kyu lagta he karent kya he

sandeep kataria ने कहा…

Sir ghar m jo light aati h agar hum phase wire aur neutral wire ko sidde apas m zodd dete h tuo bhut spark hoti h lekin wahi currnt bulb m se ho kar jab neutral wire se jata h tuo spark kyo nhi hotti h plz reply koi ans nhi d rha??